Thursday, May 7, 2009

चालीस के बाद होता है असली दोस्ताना!


उदास रहने वाले चालीस की उम्र पार कर चुके पुरुषों के लिए एक अच्छी खबर है। वैज्ञानिकों का दावा है कि उम्र के इस पड़ाव पर अधिकतर पुरुष ऐसी दोस्ती इन्जॉय करते हैं, जो जिंदगी भर चलती है।

अमेरिका की मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के जेफ्री ग्रीफ का कहना है कि इस उम्र में बनने वाले दोस्त कहीं अधिक वफादार, सीधे-सच्चे और खुशमिजाज होते हैं। दूसरी तरफ महिलाएं अपने पुराने संबंधों को निभाने में माहिर होती हैं, इसलिए वे 20 या 30 की उम्र की दोस्ती को ही बनाए रखती हैं। ये नतीजे निकालने के लिए ग्रीफ ने 400 पुरुषों और 120 महिलाओं का इंटरव्यू लिया।

इस सर्वे ने पहले की स्टडी से निकले नतीजों को चुनौती दी है जिनमें कहा गया था कि पारंपरिक मिलने की जगहों की कमी की वजह से 40 के बाद पुरुषों में उदासी छा जाती है। लेकिन आज के समय के रोल मॉडल हैं बॉलिवुड स्टार जॉर्ज क्लूनी। क्लूनी अगले महीने अपना 48वां जन्मदिन मनाने वाले हैं। इस मौके पर उनका प्लैन है कि वह अपने दोस्तों के साथ बियर पीएंगे और बॉस्केटबॉल खेलेंगे। इनके दोस्तों में बैड पिट जैसे लोग शामिल हैं जिन पर क्लूनी कम से कम अगले 20 सालों तक निर्भर रहने वाले हैं। क्लूनी की बर्थडे पार्टी 20 या 30 साल के उन लोगों से एकदम अलग है जो घर और करियर के बीच तालमेल बैठाने में परेशान हैं। उनके दोस्त भी वही कॉलिज के समय के हैं या फिर उनके साथ काम करने वाले हैं। ये दोस्त अक्सर या तो बोर करते हैं या फिर उनकी मुसीबत की वजह बनते हैं। लेकिन ज्यादा उम्र में बने दोस्त काफी शांत और भरोसेमंद होते हैं। दरअसल, उनमें आपके साथ प्रतिस्पर्द्धा करने की भावना नहीं होती, वे उस दौर से उबर चुके होते हैं।
- NT

0 comments on "चालीस के बाद होता है असली दोस्ताना!"

Followers

 

About Me

My photo
Hi, Thanx for our visit.

Women's Era Copyright 2009 Shoppaholic Designed by Ipietoon Image by Tadpole's Notez